Saturday 25 May 2024 10:42 PM
Aman Patrika
बिहार/ब्रेकिंग न्यूज

भागलपुर पुलिस दिनांक – 06.09.2023 बिहार पुलिस बिहार पुलिस गोराडीह, मोहनपुर चमेनियाँ बाँध रोड हत्या कांड का 24 घंटे में सफल उद्भेदन |

भागलपुर पुलिस दिनांक – 06.09.2023 बिहार पुलिस बिहार पुलिस गोराडीह, मोहनपुर चमेनियाँ बाँध रोड हत्या कांड का 24 घंटे में सफल उद्भेदन |

भागलपुर पुलिस

दिनांक – 06.09.2023

बिहार पुलिस

बिहार पुलिस

गोराडीह, मोहनपुर चमेनियाँ बाँध रोड हत्या कांड का 24 घंटे में सफल

उद्भेदन |

सारांश :-

दिनांक- 04.09.2023 को वादी जितेन्द्र कुमार उम्र करीब 29 वर्ष पे0 जय प्रकाश मंडल सा० – शंकरपुर थाना-सबौर जिला-भागलपुर के फर्दव्यान के आधार पर अज्ञात के विरूद्ध वादी के छोटे भाई चन्द्रशेखर कुमार उम्र करीब 28 वर्ष पे० जय प्रकाश मंडल सा० – शंकरपुर थाना-सबौर – जिला – भागलपुर का हत्या कर गोराडीह, मोहनपुर चमेनियाँ बाँध रोड में साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य के आरोप में दर्ज कराया गया हैं।

कांड के उदभेदन हेतू वरीय पुलिस अधीक्षक महोदय के द्वारा पुलिस अधीक्षक महोदय, नगर, भागलपुर के निगरानी में पुलिस उपाधीक्षक महोदय, विधि-व्यवस्था के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। उक्त टीम द्वारा तकनिकी साक्ष्य, परिस्थिति जनक साक्ष्य एवं वैज्ञानिक साक्ष्य के आधार पर अनुसंधान किया जा रहा था। इसी बीच तकनिकी अनुसंधान से ज्ञात हुआ कि कांड में प्रयुक्त सफेद स्कार्पियों जो कहलगाँव स्थित हादीज के गैरेज में सफाई कराने हेतू दिया गया हैं। उक्त टीम द्वारा एफ०एस०एल० टीम को साथ लेकर वहाँ जाकर उक्त स्कार्पियों को बरामद किया गया, जिसको खोलने पर सीट कवर एवं सीट के नीचे इत्यादि जगहो कर काफी मात्रा में खून लगा पाया गया, जिसे एफ०एस०एल० के टीम द्वारा एकत्रित कर साक्ष्य संकलन किया गया। साथ ही उक्त स्कार्पियों का जब सत्यापन किया गया तो वह स्कार्पियों प्रदीप कुमार पंकज पे० वासुदेव मंडल सा०-अठगामा थाना-घोघा जिला-भागलपुर का पाया गया। गैरेज के कर्मी द्वारा बताया गया कि प्रदीप कुमार पंकज पूर्व में भी हमारे गैरेज में गाड़ी सर्विशिंग के लिए आते-जाते रहते हैं, जो दिनांक 04.092023 के सुबह में ही स्कार्पियों लेकर आये तथा बताये कि गाड़ी में डिलेवरी पेसेंट महिला को लेकर जा रहें थे, जिसका डिलेवरी गाड़ी में ही हो गया, जिस कारण गाडी खून इत्यादि लगने के कारण काफी दुर्गंध कर रहा हैं, जिसको आप ढंग से साफ करके उसका मैट वगैरह चेंज कर दिजिए। आगे टीम के द्वारा कार्रवाई करते हुए गाड़ी के मालिक प्रदीप कुगार पंकज को शंकरपुर स्थित इनके दागाद स्व० चंद्रशेखर मंडल के घर से पकड़ा गया तथा सबौर थाना लाया गया, जहाँ विश्वास में लेकर पूछताछ किया गया। घटना को लेकर पहले तो अनभिज्ञता व्यक्त किये, लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर वे टूट गये और बताये कि चंदन उर्फ चंद्रशेखर मंडल की हत्या खुद स्वीकार करते हुए बताये कि जब से मेरी बेटी का शादी चंदन उर्फ चंद्रशेखर मंडल से हुआ था तब से मेरे दामाद चंदन उर्फ चंद्रशेखर मंडल के द्वारा शादी के एक दिन बाद से ही लागातार मुझसे नाजायज रूप से पैसे की मांग किया करते थे तथा नही देने पर मेरी बेटी तथा मेरे परिवार के अन्य परिजनों को लागातार बेइज्जत करते रहते थे तथा जान से मारने की धमकी दिया करते थे तथा मेरे जमीन पर भी अपना दावा करते थे कि उस जमीन के मिट्टी हमी ब्रिकी करेंगे। इससे अजीज आकर मैंने प्लान बना लिया था कि मैं अपना परिवार तथा अपनी बेटी का जिन्दगी नर्क नहीं बनने देगें तथा उसके हत्या करने का ठान लिया तथा लागातार मौके के तलाश में रहने लगा। इसी बीच मेरी बड़ी बेटी रूतरानी कुमारी का मायागंज अस्पताल में डिलेवरी हुआ, जिसमें वो वहाँ भर्ती थीं, जिसे प्रत्येक दिन शाम को चंदन उर्फ चंद्रशेखर खाना पहुँचाने के लिए मायागंज अस्पताल जाया करता था। इस बीच चंदन के द्वारा मुझसे लगातार का माँग किये जाते रहता था। इस मौके को देख कर दिनांक 03.09.2023 को मैने शाम में सात बजे चंदन उर्फ चंद्रशेखर को कॉल कर बोला कि दामादजी आज हमलोग गाड़ी से चलेंगे, आप का पैसा भी देंगे तथा खाना भी पहुँचा देगे, जिस पर वो तैयार हो गया। हत्या करने के लिए प्रदीप कुमार पंकज के द्वारा पूर्व से लिया गया पिस्टल व गोली को गाड़ी के बीच वाले सीट के पीछे कवर में रख दिया था तथा कुरपट रोड में ले जाकर पुल के पास गाड़ी रोक दिये तथा बात में उलझा कर में उतर कर पीछे गया तथा पिस्टल निकाल कर उनके सिर के पिछले हिस्से में गोली मार दिया, जिससे चंदन स्कार्पियों के बीच वाले सीट पर लुढ़क गया। तब प्रदीप कुमार पंकज द्वारा गाड़ी चलाते हुए आगे बढ़ कर पिस्टल को रोड से नीचे खेत में फेंक दिया गया और स्कार्पियों चलाते हुए गोराडीह क्षेत्र में मोहनपुर बहियार में पहुँच कर मृतक के शरीर को ठिकाना लगाने का सोच रहें थे, लेकिन सभी जगह भीड़-भाड रहने के कारण बहियार के चमेनियों बाँध के पास फेंक दिया और गाड़ी को घोघा होते हुए कहलगाँव में साफ-सफाई के लिए सुबह में पहुँचा दिया।

अभियुक्त प्रदीप कुमार पंकज के स्वीकारोक्ति बयान के निशानदेही पर जिस स्थान पर पिस्टल फेंका गया था, वहाँ से घटना में प्रयुक्त पिस्टल मिट्टी से सना हुआ, कादा से बरामद किया गया, जिसके मैगजीन में दो राउंड गोली भी पाया गया, जिसे विधिवत जप्ती सूची बना कर जप्त किया गया।

इस प्रकार हत्या जैसे गंभीर मामले का गठित टीम द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए 24 घंटो में सफल उद्भेदन करते हुए घटना में प्रयुक्त वाहन व हथियार-गोली एवं मृतक का मोबाईल बरामद किया गया।

बरामद सामान :-

1. हत्या में प्रयुक्त सफेद रंग का स्कार्पियों, जिसका निबंधन सं0-BR-10PA-3129,

2. हत्या में प्रयुक्त पिस्टल एवं 7.65 बोर का जिन्दा गोली,

3. मृतक का मोबाईल, 4. अभियुक्त का रियल मी कम्पनी का स्कीन टच (एन्ड्रोइड) मोबाईल ।

गिरफ्तार व्यक्ति का नाम :-

1. प्रदीप कुमार पंकज पे० वासुदेव मंडल सा०-अठगामा थाना- घोघा जिला-भागलपुर ।

डॉ० गौरव कुमार, पुलिस उपाधीक्षक विधि-व्यवस्था के नेतृत्व में छापामारी दल की विवरणी 1. पु०नि० सौम्य प्रियदर्शी, सदर अंचल, भागलपुर ।

12. पु0अ0नि0 संजय कुमार सत्यार्थी, थानाध्यक्ष गोराडीह,

3. पु०अ०नि० विवेक कुमार जायसवाल, थानाध्यक्ष सबौर

4. पु०अ०नि० विनोद कुमार, गोराडीह थाना,

5. डी0आई0यू0 टीम के सदस्य ।

6. गोराडीह एवं सबौर थाना के सशस्त्र बल ।

भागलपुर पुलिस आपकी सेवा में सदैव तत्पर ।

Share Now

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close