Monday 20 May 2024 2:25 AM
Aman Patrika
बिहार/ब्रेकिंग न्यूज

कहां सोई हुई निगमःशहर के 40 मोहल्लों की 120 सड़कें जर्जर गड्डों में जलजमाव

कहां सोई हुई निगमःशहर के 40 मोहल्लों की 120 सड़कें जर्जर गड्डों में जलजमाव

कहां सोई हुई निगमःशहर के 40 मोहल्लों की 120 सड़कें जर्जर गड्डों में जलजमाव

भागलपुर बिहार

बबरगंज रोड की हालत बदतर, सभी जगह मंडरा रहा डेंगू का खतरा

स्मार्ट सिटी के लोग एक ओर जहां

सड़क की समस्या से त्रस्त होकर त्राहिमाम कर रहे हैं, वहीं शहर की मेयर सह चर्चित डॉक्टर बसुंधरा लाल साहिबां शायद अपने क्लीनिक में उन मरीजों के बीच व्यस्त हैं, जिनके करारे नोट के बलबूते उन्हें अब विधायिकी का सफर तय करना है। गौरतलब हो कि हम इन शहरवासियों को निगम चुनाव के दौरान मेयर चुनने को लेकर समझा-बुझा रहे थे, लेकिन हर बार की तरह प्रजातंत्र का वास्तविक लाभ उठाने से बेखबर भागलपुर शहर के मतदाता भावना में बहकर मतदान करते रहे, जबकि हम इन मतदाताओं को विवेकशील होकर मतदान करने की अपील कर रहे थे। अब शहर की दशा और निगम की दुर्दशा के बाद शायद भागलपुर वासियों को मेरी आवाज सुनाई दे रही प्रस्ताव की गुहार लगाए, तभी उनके शहर की सूरत

होगी। लेकिन अब पश्चाताप करने से कुछ नहीं जर्जर हो गई हैं। हर मोहल्ले में औसतन तीन होगा। अब तो भागलपुर के मतदातागणों के लिये सड़कें टूटी हुई हैं। ऐसी स्थिति में लोगों को एक ही रास्ता है कि वह चुनाव आयोग के पास आवागमन में काफी परेशानी हो रही है, लोग अपनी पत्र संप्रेषण कर मेयर साहिबां के लिये अविश्वास फूटी किस्मत पर रोने को विवश हैं।

इसके साथ ही गड्डों में जलजमाव होने से डेंगू बदल सकती है। हालांकि मुख्य सड़कों की हालत का भी खतरा मंडरा रहा है। जर्जर सड़कों से कुछ ठीक-ठाक है। लेकिन गली-मोहल्ले की गुजरने के दौरान रिक्शा, ई-रिक्शा, बाइक सवार सड़कें पूरी तरह से जर्जर हो चुकी हैं। इन सड़कों अक्सर दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। बुधवार को बौंसी की लंबे समय से मरम्मत नहीं हो पाई है। नतीजा, पुल के आगे इशाकचक से पासी टोला जानेवाली सड़कों पर गड्ढों की भरमार है। उन गड्ढों में बारिश पर सड़क पर बने गड्ढे में बारिश का पानी जमा होने का पानी भरा हुआ है। कुछ जगहों पर नाले का से ई-रिक्शा पलट गया था। उस पर सवार लोग पानी जमा है। निगम के 51 वार्डो के करीब 40 चोटिल भी हो गए थे। इन दिनों शहर में डेंगू का मोहल्लों में 120 से अधिक सड़कें पूरी तरह से प्रकोप बढ़ गया है। ऐसे में सड़क के गड्ढों में

जलजमाव होने से डेंगू का खतरा बढ़ गया है, लेकिन नगर निगम प्रशासन ने अब तक गड्ढों को भरने और जलजमाव की समस्या दूर करने की दिशा में कोई पहल नहीं की है। बल्कि, निगम के अफसर की नजर कहीं भी जलजमाव नहीं है। नगर निगम के पीईरओ विनय कुमार यादव ने बताया कि शहर में कहीं भी जलजमाव की स्थिति नहीं है। वार्ड 50 में पाइपलाइन का काम होने के कारण थोड़ी परेशानी थी, वहां काम करवा दिया गया है। बाकी सभी जगहों पर फॉगिंग और छिड़काव कराया जा रहा है। इन इलाकों की है। सड़कें जर्जरः वार्ड 8 और 11 में सीटीएस रोड, वार्ड 6 का चंपानगर- सरदारपुर रोड, नाथनगर के वार्ड 4 के कौआकोली रोड, वार्ड 50 के अंतर्गत बबरगंज रोड, वारसलीगंज, कुतुबगंज आदि समेत तिलकामांझी चौक से सुरखीकल जानेवाली सड़क, बड़ी खंजरपुर दुर्गा मंदिर के पास, आदमपुर चौक स्थित मंदिर परिसर के पीछे की सड़क, तिलकामांझी के न्यू विक्रमशिला कॉलोनी, भीखनपुर त्रिमूर्ति चौक के पास की सड़क, तिलकामांझी शीतला स्थान रोड, मुंदीचक मिनी मार्केट के पास, लोहिया पुल से डिक्सन मोड़ जानेवाली सड़क, इशाकचक पासी टोला रोड, सिकंदरपुर, वारसलीगंज शिवपुरी क्लोनी, पुलिस लाइन के पास की सड़क, बरहपुरा हटिया चौक के पास, तातारपुर से उर्दू बाजार समेत कई सड़कें शामिल हैं।

Share Now

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close